रोज़ का झंझट ही ख़तम!

मित्रो, अभी-अभी मेरे किसी मित्र ने  यह रोचक एसएमएस भेजा है! 

"2011 हैज कम
वेरी हैप्पी न्यू ईअर
एंड इन एडवांस विश यू

अ वेरी हैप्पी
फ्रेंडशिप डे
वेलेंटाइन डे
इंडिपेंडेंस डे
रिपब्लिक डे
गाँधी जयंती.

हैप्पी रमज़ान
बकरीद
दीवाली
होली
एंड क्रिसमस.

हैप्पी मदर
फादर
दादा
दादी
नाना
नानी डेज़.

हैप्पी टीचर्स
स्टूडेंट्स
एंड चिल्ड्रन्स डे.

हैप्पी बर्थ डे
365 गुड मॉर्निंग
गुड आफ्टरनून
गुड इवनिंग
एंड गुड नाइट्स.

रोज़ का झंझट ही ख़तम.

अब पूरा साल मत कहना
की एसएमएस नहीं किया.

हैव अ नाइस लाइफ."

Sender : 91-9013497309

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पाठालोचन की नई प्रविधि है ‘कामायनी-लोचन’

अटल बिहारी वाजपेयी - सेक्स और राजनीति का रिश्ता

हिन्दी भाषा और साहित्य 'ख' (दिल्ली वि.वि. के बी.ए. प्रोग्राम, प्रथम वर्ष के उन विद्यार्थियों के लिए जिन्होंने 10वीं तक हिन्दी पढी है.) लेखक : डॉ शशि कुमार 'शशिकांत' / डॉ मो. शब्बीर, हिंदी विभाग, मोतीलाल नेहरु कॉलेज, दिल्ली वि.वि., दिल्ली, भारत.